लंड की गरम मलाई चटाई गरिमा आंटी को

(Lund Ki Garam Malai Chatai Garima Aunty Ko)

Lund Ki Garam Malai Chatai Garima Aunty Ko हैल्लो दोस्तों, यह अभी कुछ दिन पहले की बात है जब यह घटना मेरे साथ घटी। मेरे घर के पास में एक 35 साल की औरत रहती है उनका नाम गरिमा है, गरिमाजी एक ग्रहणी है उनका लड़का 12th क्लास में पढ़ता है और उनके पति एक लोकल ट्रांसपोर्ट कंपनी में काम करते है और इसलिए वो सुबह 7 बजे अपने घर से निकल जाते और रात को वो करीब 10 बजे तक वापस आते है। .

दोस्तों में अक्सर उनके घर किसी भी काम से या उनके बेटे से मिलने चला जाता हूँ, क्योंकि गरिमा का बेटा मेरा बहुत अच्छा दोस्त है। गरिमा को में हमेशा उनके नाम से यानी गरिमाजी कहकर बुलाता हूँ और में कभी कभी उनको गरिमा आंटी भी कहता हूँ, गरिमा का शरीर थोड़ा मोटा और उसके बूब्स बहुत बड़े आकार के है और उनकी गांड तो दिखने में एक बड़े आकार का कमरा है। दोस्तों जिसका मतलब वो ज्यादा आकर्षित औरत नहीं है, लेकिन मैंने कभी भी उनको अपनी गंदी नजर से नहीं देखा था। एक दिन में किसी काम की वजह से उसके घर चला गया, मैंने देखा कि वो उस समय आराम कर रही थी, मैंने उनसे पूछा कि गरिमा आंटी प्रमोद कहाँ है? प्रमोद उसके लड़के का नाम है।

फिर वो मुझसे कहने कि प्रमोद अपने पापा के साथ उसकी बुआजी के घर गया है और वो कल तक वापस आ जाएगा। अब मैंने उनको कहा कि आप आज घर पर अकेले हो आपको अगर कुछ भी काम हो तो आप मुझे जरुर बताना आंटी। फिर उसने बड़ी गंदी नजर से मेरी तरफ देखा और फिर कुछ देर सोचने के बाद वो बोली कि हाँ बेटा मुझे तुझसे आज बड़ा काम है। अब मैने उनके मुहं से वो बात सुनकर तुरंत पूछा कि हाँ बताईए ना आंटी आपको मुझसे क्या काम है? वो कहने लगी कि में अभी बताती हूँ, पहले में तुझे चाय दे दूँ और फिर में वहां बैठ गया।

अब गरिमा अंदर रसोई में चाय बनाने चली गई और कुछ देर बाद वो चाय लेकर आ गई और मुझसे पूछने लगी कि बेटा क्या तेरे पास कोई ब्लूफिल्म है? उनके मुहं से में यह बात सुनकर एकदम चकित हो गया और मन ही मन सोचने लगा कि आंटी यह क्या कह रही है? अब मैंने आंटी से पूछा क्या ब्लूफिल्म? वो बोली हाँ बेटा ब्लूफिल्म मैंने कभी नहीं देखी है। अब मैंने कहा कि हाँ मेरे पास है, वो बोली कि बेटा तू वो फिल्म लेकर आ मुझे आज उसको एक बार देखना है। फिर में उनका कहना मानकर घर से एक ब्लूफिल्म लेकर आ गया जब मैंने उस ब्लूफिल्म को चलाया, तब उस समय गरिमा आंटी मेरे साथ बैठी हुई थी और फिर फिल्म में कुछ देर बाद चुदाई शुरू हो गई।
“Lund Ki Garam Malai”

अब गरिमा आंटी मेरे पास बैठकर बड़े मज़े के साथ वो फिल्म देख रही थी, मुझे उनको देखकर बहुत हैरानी हो रही थी क्योंकि आज तक मैंने कभी भी आंटी को इस रूप में नहीं देखा था। दोस्तों वो बिल्कुल मेरे पास बैठी हुई थी फिल्म देखते हुए वो मुझसे पूछने लगी कि बेटा तूने कभी यह सब किया है? उनकी यह बात सुनकर मेरे लंड में हरकत शुरू हो गई थी। अब मैंने कहा कि आंटी मैंने तो बहुत बार यह सब किया है, वो यह बात सुनकर खुश हो गई और अब आंटी ने अपना एक हाथ साड़ी के साथ पेटिकोट के अंदर डाल दिया और यह सब देखकर मेरा लंड तन गया।

अब आंटी जोश में आकर उस फिल्म को देखने के साथ साथ अपनी चूत में ऊँगली भी कर रही थी और में चुपचाप बैठा हुआ था, तभी वो मुझसे बोली कि बेटा क्या तुम मेरी चूत में ऊँगली करोगे? तब मैंने चकित होकर उनको पूछा कि आंटी आप मुझसे यह क्या कह रही हो? वो बोली कि बेटा में सिर्फ अपनी चूत में ऊँगली डालकर ही अपने शरीर की गरमी को निकालती हूँ क्योंकि प्रमोद के पापा मेरे साथ सेक्स नहीं करते, उनको बहुत साल हो गये है मेरी चुदाई किए हुए और इसलिए यह काम मुझे हर कभी करता पड़ता है। अब मैंने उनको कहा कि आंटी मैंने कभी भी आपको इस नजर से नहीं देखा, वो कहने लगी कि बेटा में जानती हूँ कि तुमने मुझे कभी भी इस नजर से नहीं देखा, लेकिन मैंने हमेशा से तुझको अपनी गंदी नजर के साथ ही देखा है। फिर मैंने उनको कहा कि आंटी आप तो बहुत मोटी हो, वो पूछने लगी कि बेटा तो क्या समस्या है? उन्होंने तुरंत ही अपने पेटिकोट को ऊपर उठा दिया जिसकी वजह से अब उसकी चूत मेरी आँखों के सामने थी। अब मैंने देखा कि उसकी चूत आकार में ज्यादा बड़ी थी और उसके चारो तरफ काले घुंघराले बाल थे।
“Lund Ki Garam Malai”

अब वो अपनी चूत की तरफ इशारा करते हुए बोली कि बेटा क्या तुम मेरी इस चूत में अपना लंड डालोगे? मैंने बोला कि आंटी हाँ मेरा दिल तो कर रहा है कि में अपना लंड इसमे डाल दूँ, लेकिन आपका बेटा मेरा दोस्त है और अगर उसको पता चलेगा तो वो क्या सोचेगा कि उसके पक्के दोस्त ने उसकी माँ को चोद दिया? गरिमा आंटी ने कहा कि बेटा तुम बिल्कुल भी चिंता मत करो प्रमोद को कुछ भी पता नहीं चेलेगा। फिर मैंने उनको कहा कि ठीक है गरिमा आंटी, चलो आज में आपको शांत कर देता हूँ आप भी क्या याद रखोगी? “Lund Ki Garam Malai”

मेरे मुहं से यह बात सुनकर गरिमा आंटी बड़ी खुश हो गई, उसने बिना देर किए तुरंत अपने सारे कपड़े खोल दिए और वो अब बिल्कुल नंगी होकर मेरे सामने खड़ी हो गई। अब उसको अपने सामने पहली बार पूरी नंगी देखकर मुझे बड़ा अजीब सा लग रहा था, उसके बूब्स बहुत बड़े आकार के थे, उसका पेट भी बाहर निकला हुआ था और उसके कुल्हे भी बहुत मोटे थे। फिर मैंने गरिमा को कहा कि आंटी आपका यह शरीर तो बहुत बुरी हालत में है, तब वो बोली कि हाँ बेटा मुझे पता है क्योंकि बहुत दिनों से इसको किसी का लंड नहीं मिला है इसलिए इसकी यह हालत हो चुकी है, लेकिन अब तुम्हारा लंड मिल गया है तो इसकी वजह से मेरा फिगर भी अच्छा हो जाएगा।

दोस्तों मैंने अपने भी कपड़े खोल दिए, जिसकी वजह से मेरे लंड को देखकर गरिमा चकित होकर घूरते हुए बोली कि वाह क्या मस्त सेक्सी लंड है तेरा? और वो मेरे लंड को पकड़कर हिलाने लगी। अब मैंने कहा कि गरिमा आंटी प्लीज आप इसको अपने मुहं में ले लो आपको बड़ा ही मज़ा आएगा ऐसा करके। फिर वो मुझसे बोली कि बेटा यह भी क्या कोई कहने की बात है? अभी पहले तो में इसको अच्छी तरह से देख तो लूँ और उसके बाद में इसके साथ वो सब कुछ करूंगी और वैसे भी एक जवान लंड के दर्शन मुझे बहुत दिनों के बाद हुए है और वो भी इतना दमदार लंड जिसकी तारीफ करने के लिए मेरे पास कोई भी शब्द नहीं है। “Lund Ki Garam Malai”

अब मैंने उनको पूछा क्यों अंकल का लंड कैसा है? तब वो बोली कि उनका लंड तो पूरी तरह से खड़ा भी नहीं होता, उस लंड से चुदाई करने का सवाल ही नहीं उठता वो बस देखने और दिखाने के काम ही आ सकता है। फिर मैंने पूछा कि तुम फिर अब तक क्या करती थी? वो बोली कि बस बेटा में अपनी उंगली से ही अपनी चूत को शांत करती थी और कभी कभी में मोमबत्ती से भी काम चला लेती हूँ, लेकिन वो सब करके किसी को वो मज़ा शांति नहीं मिल सकती जो एक लंड से मिलती है।

अब मैंने पूछा कि आंटी आपने मुझसे पहले कभी क्यों यह सब नहीं बोला? तब वो बोली कि बेटा में तुझसे बात करने का कोई अच्छा मौका देख रही थी और वो मौका मुझे आज मिल ही गया। फिर मैंने उनको कहा कि चलो अब इसको चूसू और मज़ा करो, इतना सुनते ही गरिमा अब किसी भूखी कुतिया की तरह मेरे लंड टूट गई और वो बहुत तेज़ी से मेरे लंड को चाटने लगी और उसको चूसने लगी, वो उस समय बहुत जोश में थी। अब मैंने उसको कहा कि गरिमा प्लीज थोड़ा सा आराम से करो हमारे पास आज का पूरा दिन पड़ा हुआ है, तुम जितना चाहो इसका मज़ा ले सकती हो यह आज से बस तुम्हारा ही है। फिर वो मुझसे कहने लगी कि बहुत साल के बाद इतना मस्त स्वादिष्ट मजेदार लंड मिला है, इसलिए मुझसे अब रुका ही नहीं जा रहा है और वो मेरे लंड को ऐसे चाट रही थी जैसे कि वो एक अनुभवी रंडी हो, मैंने उसके बूब्स को पकड़ लिए और उनको दबाने मसलने लगा। फिर वो मुझसे कहने लगी कि बेटा थोड़ा ज़ोर से दबाओ ना मुझे बहुत अच्छा लग रहा है और फिर मैंने उसके बूब्स को ज़ोर से मसलना, दबाना शुरू कर दिया, वो साथ में मेरा लंड भी चूस रही थी और मुझसे अपने बूब्स भी मसलवा रही थी। “Lund Ki Garam Malai”

फिर वो मुझसे बोली कि बेटा दिल तो करता है कि में तेरा लंड हमेशा ऐसे ही चूसती रहूँ, लेकिन अब मुझसे रहा नहीं जा रहा है तुम अब मेरी चूत को तेज तेज धक्के मारो। अब मैंने उसको बोला कि हाँ ठीक है मेरी रंडी आंटी चल में आज तेरी चूत मारता हूँ और अब वो अपने दोनों पैरों को फैलाकर पलंग पर लेट गई। फिर उसी समय बिना देर किए उसकी चूत में मैंने अपना लंड डाल दिया और उस दर्द की वजह से उसका ज़ोर से चिल्लाना शुरू हो गया, मैंने अपना पूरा का पूरा लंड उसकी चूत में डाल दिया और धक्के देने लगा। अब वो बोली कि बेटा मुझे आज स्वर्ग का मज़ा मिल रहा है प्लीज़ ज़ोर ज़ोर से धक्के देकर इसको पूरा अंदर डालो और मेरी इस चूत को आज तुम पूरा फाड़ दो, इसकी मजेदार चुदाई करो इस मेरी चूत ने मुझे इतने दिनों से बहुत तकलीफ़ दी है। फिर में इसकी वजह से हर दिन अपनी उंगली को डालकर शांत किया करती थी, लेकिन फिर भी यह कभी भी शांत नहीं हुई क्योंकि इसको सिर्फ़ लंड की भूख थी और इसलिए आज तुम इसकी पूरी भूख को मिटा दो शांत कर दो इसको। अब मैंने उसको बोला कि चुपकर साली बहुत ज्यादा बोलती है, में उसकी चूत में धक्के मारे जा रहा था और वो मज़े के साथ अपनी चूत मरवा रही थी।
“Lund Ki Garam Malai”

फिर करीब दस मिनट तक बिना रुके लगातार जोरदार धक्के देकर उसकी चूत मारने के बाद मैंने उसको बोला कि चल गरिमा अब तू उल्टी लेट जा क्योंकि अब तेरी गांड की बारी है, में आज तेरी गांड को भी अपने लंड के मज़े देना चाहता हूँ। अब गरिमा मेरे मुहं से वो बात सुनकर बड़ी खुश होकर कहने लगी कि आज तुमने मेरे दिल की बात को अपने मुहं से कह दिया, में भी तुमसे आज अपनी गांड को मरवाना चाहती हूँ और में अपनी गांड में भी तुम्हारे लंड को महसूस करना चाहती हूँ और इसकी ताकत को देखना चाहती हूँ।

फिर मैंने उसके मुहं से यह बात सुनकर खुश होकर उसकी गांड के छेद पर अपने लंड का टोपा रखकर ज़ोर से दबाव बनाकर उसको गांड के अंदर डालना चाहा, लेकिन मैंने बहुत बार कोशिश करके देखा वो नहीं जा रहा था। अब में गरिमा से पूछा कि हरामजादी तेरी गांड इतनी टाइट क्यों है? इसमे मेरा लंड इतना ज़ोर लगाने पर भी अंदर नहीं जा रहा है ऐसा क्यों हो रहा है? फिर वो बोली कि बेटा आज पहली बार कोई मेरी गांड मार रहा इसलिए यह इतनी टाइट है और फिर मैंने बड़ी मेहनत से उसकी गांड के छेद में अपना लंड डाल दिया। दोस्तों उस दर्द की वजह से गरिमा अब ज़ोर ज़ोर से चीखने लगी दर्द की वजह से तड़पने लगी थी। “Lund Ki Garam Malai”

फिर उसी समय मैंने उसके मुहं पर अपना एक हाथ रख दिया क्योंकि मुझे पता है कि पहली बार गांड मारने पर औरत दर्द की वजह बहुत ज्यादा चीखती चिल्लाती है, लेकिन मैंने उसके मुहं पर अपना हाथ रखकर उसकी बहुत जमकर गांड मारी। अब मुझे उसके साथ यह सब करने में बहुत मस्त मज़ा आ रहा था, लेकिन इतनी देर तक धक्के देने के बाद भी मेरा लंड अब भी तना हुआ था। फिर मैंने गरिमा की गांड से अपना लंड बाहर निकालकर उसके मुहं में डाल दिया और वो उसको मज़े लेकर चाटने और चूसने लगी और उसी समय मैंने उसको कहा कि गरिमा जी अब आप इसको चूस चूसकर इसका पूरा पानी निकाल दो। अब वो कहने लगी वाह क्या मस्त दमदार लंड है तेरा?

मेरी चूत और मेरी गांड दोनों को इतनी देर तक धक्के मारने के बाद भी यह अभी तक तना हुआ खड़ा है। अब वो मेरे लंड को चाटते चाटते मेरे आंड को भी चाट रही थी और उसी समय मैंने उनसे पूछा क्यों गरिमा तुम्हे कुछ शांति मिली या नहीं? तब वो बोली कि में अब तक तीन बार झड़ चुकी हूँ और मेरी चूत अब एकदम शांत है, लेकिन मेरी चूत को आज तक किसी ने भी नहीं चाटा, क्या तुम मेरी चूत को चाटोगे? तब मैंने बोला कि हाँ, लेकिन एक शर्त पर। अब वो पूछने लगी कि हाँ बताओ वो क्या है? मैंने उसको बोला कि तुम हमेशा मेरी रंडी बनकर रहोगी और मेरे लिए नई नई चूत का इंतज़ाम भी करोगी। “Lund Ki Garam Malai”

अब वो मेरी बात को सुनकर मेरी तरफ मुस्कुराते हुए बोली कि हाँ ठीक है में अपनी सहेलियों को भी तुम्हारे लिए तैयार करके ले आउंगी। फिर मैंने उसको कहा कि चुप साली रंडी मुझे तेरी उम्र की नहीं जवान चुदाई के लिए प्यासी औरते, लड़कियाँ चुदाई करने के लिए चाहिए। अब वो कहने लगी कि बेटा औरत जवान हो या बूढी मतलब तो उसकी चूत से होता है और वैसे भी तुम्हे एक जवान लड़की वो सब मज़ा नहीं दे सकती जो मज़ा हम अनुभवी औरते दे सकती है, क्योंकि हमे चुदाई के साथ साथ सभी बातों का पूरा पूरा अनुभव और उसकी पूरी जानकारियां भी होती है।
“Lund Ki Garam Malai”

अब मैंने कहा कि हाँ चल ठीक है और हम दोनों 69 आसन में लेट गये और में उसकी चूत को चाटने लगा, गरिमा भी मेरे लंड को अपने मुहं में लेकर चूस रही थी। दोस्तों गरिमा की चूत आकार में इतनी बड़ी थी कि मेरा पूरा मुहं उसकी चूत में घुस रहा था, कुछ देर बाद उसकी चूत को चाटने से ही वो झड़ गई और उसकी चूत का पानी पीने के बाद में भी उसके मुहं में झड़ गया। अब गरिमा आंटी भी मेरा पानी पी गई और फिर में कुछ देर बाद नहाने चला गया, तब मैंने गरिमा को बोला कि चलो आंटी अब में अपने घर जाता हूँ शाम को में एक बार फिर से आ जाऊंगा, तब तक आप अपनी सबसे अच्छी दोस्त को बुला लेना। “Lund Ki Garam Malai”

फिर वो मेरे मुहं से यह बात सुनकर मुस्कुराते हुए बोली कि हाँ ठीक है, में तेरे लंड का इंतजार करूंगी और में अपने घर बड़ा खुश होकर चला आया, लेकिन शाम को जब में गरिमा आंटी के घर पर पहुंचा तब मैंने देखा कि वहां पर गरिमा की एक दोस्त बैठी हुई है। दोस्तों उसके बूब्स दूर से कपड़ो में बहुत अच्छे गोलमटोल आकर्षक नजर आ रहे थे और उसकी उम्र भी करीब 40 के आसपास होगी। तभी कुछ देर बाद गरिमा आंटी भी वहां पर आ गई और वो मुझसे उसका परिचय करवाते हुए कहने लगी कि बेटा यह मेरी दोस्त है और इसका नाम ज्योति है, इसका मर्द मर चुका है और मैंने इसको हम दोनों के बीच की सभी बातें उस काम के बारे में अच्छी तरह से समझा दिया है और अब यह हमारे इस खेल में हमारा पूरा साथ अपनी मर्जी से देने को तैयार है। अब मैंने वो सभी बातें सुनकर खुश होकर ज्योति की छाती पर अपना एक हाथ लगाया और तब छुकर मुझे महसूस किया कि उसके बूब्स एकदम टाइट थे। अब ज्योति मुझसे कहने लगी कि बेटा तुम आज इसको जी भरकर दबाओ इनका मज़ा लो और मुझे भी वो सभी मज़े दो जिसके लिए में बहुत समय से तरस रही हूँ। “Lund Ki Garam Malai”

फिर मैंने कहा कि ज्योति तेरी चूत कैसी है? वो बोली कि तुम खुद ही देख लो ना तुम्हे अब रोका किसने है? मैंने पूछा कि क्या तेरी चूत पर बाल है? वो बोली कि हाँ है। फिर मैंने उसको कहा कि तुम अपनी झाटे साफ क्यों नहीं करती हो? वो कहने लगी कि अगर तुम कहो तो में अभी साफ कर लूँ और फिर मैंने उसको कहा कि चल अब अपनी चूत के दर्शन तो मुझे करा दे। फिर यह बात सुनकर खुश होते हुए ज्योति ने झट से अपनी सलवार को खोल दिया और फिर अपनी पेंटी को भी उतार दिया, तब मैंने देखा कि ज्योति की चूत बहुत सुंदर थी। अब मैंने गरिमा आंटी को बोला कि चल गरिमा अब तू भी नंगी हो जा और फिर मेरी बात को सुनकर गरिमा भी तुरंत पूरी नंगी हो गई।
“Lund Ki Garam Malai”

दोस्तों जिसकी वजह से अब मेरे सामने दो औरते बिल्कुल नंगी खड़ी हुई थी और वो दोनों ही अपनी खा जाने वाली वजह से मेरे लंड को देख रही थी। फिर मैंने ज्योति को कहा कि अब तुम दोनों अपनी अपनी चूत को एक दूसरे की चूत से रगाड़ो यह बात सुनकर तुरंत ही ज्योति और गरिमा अब अपनी अपनी चूत को एक दूसरे की चूत से रगड़ने लगी और कुछ देर बाद उन दोनों को ऐसा करने में बड़ा मज़ा आने लगा। अब वो दोनों जोश में आकर नीचे लेटकर अपनी गरम चूत को किसी अनुभवी रंडियों की तरह रगड़ रही थी।

फिर कुछ देर बाद में अपना मुहं उन दोनों की चूत के पास ले गया और मैंने अपनी जीभ को उनकी चिपकी हुई चूत पर फेरना शुरू कर दिया। अब में कभी गरिमा की चूत को चाटता तो कभी ज्योति की चूत को चूसता ऐसा करने में मुझे भी उनके साथ साथ बहुत मज़ा आ रहा था। फिर मैंने कुछ देर बाद ज्योति को खड़ाकर दिया और में उसके बूब्स को चूसने दबाने लगा और गरिमा नीचे बैठकर मेरा लंड चूसने लगी। दोस्तों ज्योति के बूब्स आकार में बड़े होने के साथ ही बहुत कसे हुए भी थे, जिसकी वजह से मुझे बहुत अच्छा महसूस हो रहा था और उसके बूब्स को चूसने पर मुझे ज्यादा मज़ा आ रहा था। “Lund Ki Garam Malai”

अब वो मुझसे बोली कि बेटा अब तुम मेरी इस प्यासी चूत पर भी थोड़ा रहम कर दो और इसको भी तुम चोदो या चाटो इसको तुम कब तक ऐसे ही तरसाते रहोगे? मैंने उसको पलंग पर लेटा दिया और में उसकी चूत को चाटने लगा। अब गरिमा मेरे दोनों पैरों के बीच में आकर नीचे लेटकर मेरा लंड चाट रही थी और में ज्योति की चूत में खोया हुआ था और इस बीच ज्योति दो बार झड़ चुकी थी, जिसकी वजह से अब उसकी चूत से बहुत सारा रस निकलने लगा। फिर वो मुझसे कहने लगी कि बेटा इसको तुम पी लो मैंने उसकी चूत का पानी अपनी जीभ से चाटना शुरू कर दिया और नीचे में गरिमा के मुहं को चूत समझकर अपने लंड से झटके देने लगा। “Lund Ki Garam Malai”

अब गरिमा ने भी अपने मुहं को एकदम टाइट कर लिया था क्योंकि वो समझ गई थी कि में उसके मुहं को अपने लंड से चोद रहा हूँ। दोस्तों ज्योति की चूत से मुझे कुछ नशा सा हो गया था, मुझे अब ऐसा लगने लगा था कि जैसे मैंने उस समय तीन पेग पी लिए है, लेकिन अब भी मेरी जीभ उसकी चूत के अंदर थी और मेरी जीभ से ज्योति अब दो बार झड़ चुकी थी और में भी दो बार गरिमा के मुहं में धक्के देते हुए झड़ चुका था, लेकिन गरिमा मेरे पानी को पीने के बाद अब भी मेरे लंड को चाट रही थी। फिर बहुत देर तक उसकी चूत को चाटने के बाद में उठकर बैठ गया, मुझे उस समय ज्योति और गरिमा उनके खिले हुए चेहरे से बहुत खुश नजर आ रही थी। “Lund Ki Garam Malai”

अब ज्योति मुझसे कहने लगी वाह बेटा तू क्या मस्त मज़े देकर चूत को चाटता है? इसकी वजह से मेरी चूत तो आज से तुम्हारी जीभ की दीवानी हो गई है और अब मुझे तुम्हारा लंड नहीं तुम्हारी जीभ ही चाहिए। फिर मैंने उसको कहा कि ज्योति तेरी इस चूत ने भी मुझे बिल्कुल पागल कर दिया था, मेरा मन करता जा रहा था कि में भी इसको लगातार चाटता ही रहूँ। अब गरिमा कहने लगी कि मुझे भी तेरे इस लंड को चाटना बहुत अच्छा लगा, उसके बाद मैंने तेरे आंड को चूसा उनको मसल दिया। “Lund Ki Garam Malai”

फिर ज्योति हमारे लिए चाय बनाने के लिए उठी, उसकी चूत और उसकी गांड को देखकर मेरा लंड एक बार फिर से कुछ ही देर में तनकर खड़ा हो गया, में भागता हुआ उसके पीछे चला गया और मैंने उसको पीछे से पकड़ लिया और फिर मैंने अपना तना हुआ लंड उसकी चूत में डाल दिया। अब ज्योति वहीं पर नीचे झुक गई और में वहीं पर उसकी चूत को जोरदार धक्के मारने लगा और करीब बीस मिनट तक लगातार ज़ोर ज़ोर से उसकी चूत को धक्के मारने के बाद में उसकी चूत में झड़ गया। फिर वो हंसती हुई बोली बेटा आज तो बहुत मज़ा आ गया क्योंकि आज बहुत साल के बाद मेरी चूत को तुमने मारी है, मुझे तुमने आज अपनी इस चुदाई से बड़ा खुश कर दिया है। अब मैंने उसको कहा कि चल अब तू मेरे लंड को चाट चाटकर साफ कर दे, तभी बीच में गरिमा बोली कि बेटा तेरा यह काम में कर देती हूँ और गरिमा वहीं पर तुरंत ही नीचे बैठकर मेरा लंड अपनी जीभ से चाट चाटकर साफ करने लगी। फिर कुछ देर के बाद ज्योति जाकर हमारे लिए चाय बनाकर ले आई, हम लोग वहीं पर बैठकर चाय पीने लगे। दोस्तों उस समय हम सभी पूरे नंगे ही थे और फिर बातों ही बातों में ज्योति ने बोला कि बेटा आज तक तुमने सबसे अच्छी चूत किसकी मारी है? मैंने बोला कि तेरी, मेरे मुहं से यह बात सुनकर वो हंसने लगी।
“Lund Ki Garam Malai”

अब ज्योति बोली कि बेटा तेरा लंड सच में बहुत अच्छा है, में तेरे इस लंड और तेरी इस जीभ की दीवानी हो चुकी हूँ। फिर गरिमा कहने लगी कि सच में अब तुम जब भी चाहो हम दोनों को चोद सकते हो और फिर में उनकी वो बातें अपने काम की तारीफ को सुनकर खुशी खुशी अपने घर पर आ गया। अगले दिन जब में प्रमोद को मिलने उसके घर गया और प्रमोद से में बातें करने लगा, तभी गरिमा आंटी वहां पर आ गई। अब हम दोनों की आंखे मिली उसमे अब भी शरारत थी, वो मुझसे बोली कि बेटा तुम बहुत दिनों से आए नहीं हो क्यों एसी क्या बात है? मैंने कहा कि आंटी में किसी काम में बड़ा व्यस्त था इसलिए मुझे आपके घर पर आने का समय नहीं मिला। फिर वो मेरा यह जवाब सुनकर मेरी तरफ मुस्कुराकर वहां से रसोई में चली गई। तभी प्रमोद का फोन बज गया और वो फोन पर बात करने में व्यस्त हो गया, में चुपचाप उठकर रसोई में चला गया और मैंने देखा कि गरिमा वहां पर काम कर रही थी। अब मैंने पीछे से जाकर उसकी गांड पर अपना एक हाथ फेर दिया और वो बिना मुड़े, देखे बिना तुरंत समझ गई कि वो में हूँ। फिर वो मुझसे कहने लगी कि इस समय प्रमोद घर पर है, मैंने उसको कहा कि मेरा लंड अब खड़ा हो गया है इसको आज अभी तेरी गांड मारनी है। “Lund Ki Garam Malai”

अब वो मेरे मुहं से यह बात सुनकर बहुत घबराते हुए डरकर कहने लगी कि नहीं इस समय यह सब करना ठीक नहीं होगा, प्रमोद को पता चल जाएगा और वो हम दोनों के लिए बहुत गलत होगा। फिर मैंने उसको कहा कि प्रमोद को कुछ भी पता नहीं चलेगा और फिर मैंने उसी समय उसकी सलवार का नाड़ा खोल दिया और अब में उसकी पेंटी को उतारने लगा। दोस्तों मुझे अच्छी तरह से पता था कि गरिमा भी मुझसे अपनी गांड तो मरवाना चाहती थी, लेकिन उसको प्रमोद का डर भी लग रहा था। अब मैंने अपना लंड पेंट से बाहर निकाला और एक ज़ोर का धक्का लगाते हुए उसकी गांड के छेद में डाल दिया और उसकी गांड में धक्के देने शुरू कर दिए। फिर उधर प्रमोद अपने फोन पर अपने किसी दोस्त से बहुत हंस हंसकर बातें कर रहा था और इधर में उसकी माँ की गांड को धक्के मारने में लगा हुआ था। फिर कुछ देर के बाद मैंने गांड में धक्के देने के बाद उसकी चूत में भी अपना लंड डाल दिया और अपनी चूत में लंड जाने के बाद अब गरिमा बहुत खुश हो गई, वो मुझसे बोली कि आज तू जल्दी से अपना पानी निकाल दे नहीं तो प्रमोद आ जाएगा। फिर मैंने उसको बोला कि चुपकर साली, कुतिया, रंडी और मैंने अपने धक्कों की गति को पहले से तेज कर दिया और कुछ देर बाद मैंने उसको नीचे बैठा दिया और में उसके मुहं पर मुठ मारने लगा। “Lund Ki Garam Malai”

अब गरिमा अपना पूरा मुहं खोलकर वहीं पर नीचे बैठ गई और उसकी नजर दरवाज़े पर भी थी, वो चुदाई के मज़े लेने के साथ साथ घबरा भी रही थी। फिर मैंने अपने हाथ से अपने लंड को हिलाना शुरू कर दिया और अपने पानी से उसका पूरा मुहं भर गया, जिसको गरिमा चाटने लगी और लंड को चूसकर पीने भी लगी थी। फिर मैंने अपनी पेंट को ऊपर किया और में रसोई से बाहर आ गया और तब मैंने देखा कि प्रमोद अभी भी फोन पर अपने किसी दोस्त से बातें करने में लगा हुआ था और कुछ देर बाद प्रमोद ने अपना फोन रखा और वो सीधा रसोई के अंदर चला गया।
“Lund Ki Garam Malai”

दोस्तों तब तक गरिमा ने अपने कपड़े ठीक कर लिए थे, लेकिन उसके चेहरे के कुछ हिस्से पर अब भी मेरे लंड का पानी लगा हुआ था, जिसको देखकर प्रमोद अपनी माँ से कहने लगा कि मम्मी आपके चेहरे पर यह क्या लगा हुआ है? तब वो उसको बोली कि बेटा मैंने अपने चेहरे पर मलाई लगाई हुई है। दोस्तों उस दिन के बाद में हर हर जब भी मुझे कोई अच्छा मौका मिलता है, में गरिमा आंटी और उनकी दोस्त ज्योति आंटी को उनके घर में जाकर उनकी मस्त जमकर चुदाई करता हूँ। दोस्तों यह बात आज तक उनके घर में किसी को भी पता नहीं चली और हम तीनों मिलकर मस्त चुदाई के मज़े लेते रहे, मैंने उन दोनों को हर एक तरह से चोदा उनकी चूत, गांड, मुहं में अपना लंड डालकर उन दोनों को हमेशा अपनी चुदाई से पूरी तरह से संतुष्ट किया और वो दोनों भी मेरी इस चुदाई से हमेशा बहुत ज्यादा खुश रही । “Lund Ki Garam Malai”

Loading...

Online porn video at mobile phone


"driver sex story""sexi sotri""hindisex story""hindi xxx kahani""www hindi sexi story com"www.chodan.com"indian sex storues""hindi sexy story with pic""indian sex kahani""hindi sex kahaniya in hindi""suhagraat ki chudai ki kahani""hindi sex story hindi me""www hindi sexi story com""cudai ki kahani""www.kamukta com""indian bus sex stories""sex with uncle story in hindi""new hindi sex store""hinde sex sotry""gay sex story""sexy kahania""group sexy story""sxe kahani""sex storiez""hot lesbian sex stories""first time sex story""free sex story""sali ki chut""sexi stori""chudai story new"hindisexystory"tamanna sex stories"mastaram.net"www hot sex story""antarvasna ma"hindipornstories"hinde sxe story""real indian sex stories""chudai ka maja""पहली चुदाई""हॉट सेक्स स्टोरीज""sexy story hindi""sex kahani with image""hindi sex chats""pahli chudai""garam kahani""hindi sex store""sexi hindi story"sexstory"सेक्सी कहानियाँ""isexy chat""sex stori hinde""hindi sex tori""sexy khani"hindisexstories"new sexy story com""hot story in hindi with photo""sexstory in hindi""bhanji ki chudai""lesbian sex story""hindi me chudai""indian mom sex stories""कामुकता फिल्म""hotest sex story""sexxy stories""new hindi sex kahani""sax story""indian sex stories gay""hindi true sex story""hot sex stories""chut land ki kahani hindi mai""antarvasna mobile""kamukata story""oriya sex story""sexi story new""gand ki chudai story""devar bhabhi ki sexy story"hindisexstory"hindi sex estore""mastram ki sexy story""office sex stories""hindi sex sotri""tamanna sex stories""driver sex story""mami k sath sex""gay sex story""bhabhi ki gand mari""latest hindi sex stories""true sex story in hindi""indian wife sex stories"